NIOS Political Science (317) | Important questions and answers - Hindi Medium

 

(व्यक्ति एवं राज्य)

Important questions and answers

प्रश्न- राजनीति विज्ञान से आप क्या समझते हैं? 

उत्तर :- राजनीति विज्ञान समाज विज्ञान का वह हिस्सा है जो राज्य की स्थापना तथा सरकार के सिद्धांतों का अध्ययन करता है।  

प्रश्न:- सत्ता किसे कहते हैं? 

उत्तर :- दूसरों को नियंत्रित करने की योग्यता को सत्ता कहते हैं।  

प्रश्न :- सत्ता के अंतर्गत कौन- कौन सी दो चीजें आती हैं? 

उत्तर :- (i) शक्ति, (ii) वैधता। 

प्रश्न :- न्याय के दो महत्वपूर्ण स्थान कौन-से हैं? 

उत्तर :- (i) व्यवस्थापिका, (ii) कार्यपालिका। 

प्रश्न: राजनीति विज्ञान के क्षेत्र में आने वाला विषय क्या है ? 

उत्तर : राज्य तथा सरकार के कार्यों का अध्ययन तथा नागरिकों के साथ उनके संबंध। 

प्रश्न: बाजार किसे कहते हैं ? 

उत्तर : वस्तुओं तथा सेवाओं को खरीदने तथा बेचने वाले स्थान को बाजार कहते हैं। यह मांग की पूर्ति के आधार पर चलाया जाता हैं। 

प्रश्न : प्राकृतिक अधिकारों से क्या तात्पर्य है ? 

उत्तर :- प्राकृतिक अधिकार वह अधिकार है जो व्यक्ति को जन्म के साथ प्राप्त होते हैं। इसलिए इन्हें ईश्वर के द्वारा प्रदान किए गए अधिकार भी कहते हैं।  

 प्रश्न :- राजनीति विज्ञान के अर्थ को स्पष्ट कीजिए।

 उत्तर :- जे० डब्लू० गार्नर के अनुसार "राजनीति का प्रारंभ और अंत राज्य के साथ होता है।"  उसी तरह से आर० जी० गैटेल ने की राजनीति " राज्य के भूत,वर्तमान तथा भविष्य का अध्ययन है।" हैरोल्ड जे० लास्की ने कहा है किराजनीति के अध्ययन का संबंध मनुष्य के जीवन एवं एक संगठित राज्य से संबंधित है। इसलिए, समाज विज्ञान के रूप में, राजनीति विज्ञान, समाज में रहने वाले व्यक्तियों के उस पहलू का वर्णन करता है जो उनके क्रियाकलापों और संगठनों से संबंधित है और जो राज्य द्वारा बनाये गए नियम एवं कानून के अंतर्गत शक्ति प्राप्त करना चाहता है तथा मतभेदों को सुलझाना चाहता है। 

 प्रश्न : स्वतंत्रता की सुरक्षा का वर्णन कीजिए।

 उत्तर : संविधान में व्यक्ति के अधिकारों की घोषणा को स्वतंत्रता का एक प्रमुख रक्षक माना गया है। इसके द्वारा लोगों की स्वतंत्रता को सरकारी हस्तक्षेप से बचाया जाता है। यह कहना उचित है कि निष्पक्ष न्यायपालिका स्वतंत्र की प्रहरी है। इसके बिना व्यक्ति की स्वतंत्रता अर्थहीन है। शक्ति का विकेंद्रीकरण स्वतंत्रता की एक मुख्य सुरक्षा है। इतिहास में ऐसे प्रमाण मिलते हैं की शक्ति केंद्रीकरण ने निरंकुशता को जन्म दिया है। कार्यपालिका, व्यवस्थापिका, एवं न्यायपालिका के बीच शक्ति का विभाजन भी स्वतंत्रता की रक्षा का प्रमुख साधन है। 

NIOS NOTES ALSO PROVIDED 

CONTACT NO:8638447739, WHATSAPP NO.9085652867

 

 

Post a Comment

0 Comments