जय बजरंग बली।

जय बजरंग बली।
जय हनुमान ज्ञान गुण सागर ,जय कपीस तेहु लोक उजागर।
राम दूत अतुलित बल धामा , अजनी पुत्र पवन सूत नामा।
महाबीर बिक्रम बजरंगी कुमति  निवार सुमति के संगी।
कंचन बरन बिराजे सुबेसा कानन कुण्डल  कुचित केसा।


जब भी आप लोगो को डर लगे तो हनुमान जी को याद कर लीजिएगा।
हर मंगल वार को हनुमान चालीसा का पाठ कीजिये सब का कल्याण होगा।
जय श्री राम। जय हनुमान

Post a Comment

0 Comments